कविवर रबीन्द्रनाथ टैगोर के जन्मदिवस पर

चल तू अकेला 

भावानुवादः घनश्याम ठक्कर (ओएसीस)